Posts for the ‘सब्जियों तथा फलों के गुण’ Category
30 articles posted under this category

आम फलों का राजा यूं ही नहीं कहलाता

Tuesday, June 12th, 2012
आम के आम गुठलियों के दाम (आम बॉडी को तुरंत एनर्जी देता है) पुर्तगाली  व्यापारी भारत में आम लेकर आए थे। गर्मियों में यही एक ऐसा फल है, जो रसीला व मीठा है और हर उम्र के लोगों को भाता है। भारत में कई किस्म के आम पाए जाते हैं।इसे कई तरह से खाया जा सकता है। आम को चूसकर, काटकर जूस निकालकर, केक, पेस्ट्री में डाल कर या फिर चटनी और अचार में डालकर खाया जा सकता है। 'यह फल हर बॉडी पर अलग- अलग तरह से रिऐक्ट करता है। कई लोगों को आम खाने के बाद पिंपल्स हो जाते हैं। इसलिए इसे दही या नट्स के साथ खाऐ, तो यह ज्यादा फायदेमंद होगा  इससे इसमें चीनी की मात्रा कम होगी और पोषक तत्व बढ़ेंगे। अगर आप वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो इसे थोडी -थोडी मात्रा में ... »

लीची फलों की रानी है

Tuesday, June 12th, 2012
लीची  फलों की रानी है इसे देखकर आता मुंह में पानी है आम फलों का राजा तो लीची फलों की रानी है लीची का नाम आते ही मुंह में मीठापन तथा चिपचिपापन आ जाता है यह बच्चों से लेकर बडों तक की पसंदीदा फल है।यह गर्मी के मौसम का अति ठंडक देने वाला फल  है देखने में भी उतना ही सुंदर भी। आइये अब जाने इस फल में पाये जाने वाले गुण के बारे में • लीची विटामिन सी और पोटैशियम का भंडार है • दस लीची खाने से हमें लगभग 65कैलरी मिल जाती है • इसमें सैचुरेटेड फ़ैट्स होता है. • लीची में  फ़ाइबर की मौजूदगी की वजह से इसे मोटापा कम करने का एक विकल्प भी माना जाता है. • इसमें ब्रेस्ट कैंसर से लड़ने के गुण भी होते हैं. • इसमें ... »

जामुन क्यों खायें

Wednesday, July 20th, 2011
जामुन के मौसम में जामुन क्यों खायें प्रकृति ने जामुन को कई खूबियां प्रदान की हैं। जामुन में विटामिन बी और सी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। बी समूह के विटामिंस नर्वस सिस्टम के लिए फायदेमंद माने जाते है। वहीं विटामिन सी शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। यह फल पेट के रोगों के लिए लाभप्रद माना गया है। सेंधा नमक के साथ इसका सेवन भूख बढ़ाता है और पाचन क्रिया को तेज करता हैबरसात के दिनों में हमारी पाचन संस्था कमजोर पड़ जाती है कारण हमारा मानना है कि बरसात यानि बस तली चीजें खाना कचौडी,पकोडे,समोसे इत्यादि जिसके कारण शूगर वालों का शूगर और बढ़ जाता है तथा पाचन क्रिया सुस्त हो जाती है।यहां पर आयुर्वेद के अनुसार जामुन की गुठली का चूर्ण ... »

मेथी गुणों की खान है

Monday, February 14th, 2011
मेथी गुणों की खान है, चाहे हरी ताजी हो या सूखी मेथी दाना हो........ मेथी दाने हो या हरी मेथी में फॉस्फेट, फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर आदि पोषक तत्व पाये जाते हैं। मेथी में प्रोटीन की मात्रा भी बहुत अधिक होती है। यह हमारे भूख को भी बढ़ाती है।
  • मेथी हमें बेहतर स्वास्थ्य के साथ सौंदर्य भी प्रदान करती है। हमारी सुंदरता व स्वास्थ्य दोनों का संबंध हमारे उदर (पेट) से होता है।पेट की गड़बडि़यों से त्वचा पर फुंसियाँ निकलना, त्वचा की कांति का छिन जाना, एसीडिटी आदि समस्याएँ पैदा होती हैं।
  • मेथी एक ऐसी गुणकारी औषधि है, जो हमारे पेट संबंधी विकारों को दूर कर त्वचाको सौंदर्यता प्रदान करती है व स्वस्थ शरीर प्रदान करती है।
  • अपच, डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, साइटिका आदि बिमारियों में मेथी के बीजों ... »

काले चने के गुण

Tuesday, October 19th, 2010
चने में अंकुरण के 7 दिन बाद तक मिनरल्स और विटेमिन्स भर पूर मात्रा में रहते हैं, इन्हैं 7 दिनों के अन्दर ही खा लेना अच्छा है.  अंकुरित दाने   सलाद के रूप में कच्चे या उबाले हुये दोनों तरीके से खाये जा सकते हैं, या आप इनसे अपनी मन पसन्द कोई डिश भी बनाकर खा सकते हैं।
  • चने के कई किस्में  आती हैं, काला,पीला,छोटे चने,काबुली,सफेद जो मोटे होते हैं।
  • काला चना तथा किशमिश रात को भिगाकर सुबह खाने से औषधीय रूप में गुणकारी तथा पौष्टिक होता है।
  • चना भूख से कम खाना चाहिये कारण कारण बाद में फूलता है जिससे दस्त लग सकते हैं।
  • सबसे गुणकारी काला चना होता है ।इसे ... »


Redwing Solutions